Skip to main content

Posts

Showing posts from March, 2021

नेत्र रोग नाशक मंत्र || MANTRA TO CURE EYE DISEASE || अक्ष्युपनिषद्

नेत्र रोग नाशक मंत्र || MANTRA TO CURE EYE DISEASE अक्ष्युपनिषद् www.thefoodieways.com ऊँ नमो भगवते श्री सूर्यायाक्षितेजसे नमः | ऊँ स्वेचराय नमः | ऊँ महासेनाय नमः |ऊँ तमसे नमः |ऊँ रजसे नमः | ऊँ सत्वाय नमः |ऊँ असतो मा सद गमय | तमसो मा ज्योतिर्गमय | मृत्योर्माsमृतम् गमय | हंसो भगवाञ्छुचिरूपः अप्रतिरूपः |विश्वरूपं घृणिनं जातवेदसं हिरण्यमयं ज्योतीरूपं तपतम् | सहस्ररश्मिः शतद्या वर्तमानः पुरः प्रजानामुदयत्पेण सूर्यः |ऊँ नमो भगवते श्री सूर्यायादित्यायादितेजसेsहोsवाहिनि वाहिनि स्वाहेति | हिन्दी में अनुवाद नेत्र रोग नाशक मंत्र अक्ष्युपनिषद् चक्षुओं कि ज्योति (आँखों को तेज देने वाले ) भगवान सूर्य को नमस्कार है |अपनी इच्छा से भ्रमण करने वाले भगवान सूर्य को नमस्कार है |महान सेना के अधिपति भगवान सूर्य को नमस्कार है |तमोगुण रूप में भगवान सूर्य को नमस्कार है| रजोगुण रूप में भगवान सूर्य को नमस्कार है |सत्वगुण रूप में भगवान सूर्य को नमस्कार है |हे सूर्य नारायण आप मुझे असत्य से सत्य कि ओर ले चलिए |अंधकार से प्रकाश कि ओर ले चलिए |मृत्यु से अमृत कि ओर ले चलिए |हे भगवान सूर्य आप शुचिरूप(मनमोहक) हैं,आप अप्