Thursday, April 8, 2021

10 प्रकार कि बिमारियाँ ठीक कर सकता है यह पौधा | this plant can cure 10 types of disease

 10 प्रकार कि बिमारियाँ ठीक कर सकता है यह पौधा |



रत्नजोत | ratanjot


स्थानीय नाम 


रत्नजोत ,बैम्वलम्बपटै (तमिल ), अल्कानेट (अंग्रेजी )


वानस्पतिक नाम  


अलकन्ना तिनकोरिया 


रत्नजोत कि पहचान 



1.     ऱत्नजोत में तुरही के आकार के नीले या बैंगनी फूल लगते हैं |

2.     यह पौधा 0.3 से 0.6 मीटर तक लम्बा हो सकता है |

3.     पौधे के पत्तों पर छिटपुट सफेद बाल होते हैं |

4.     इस पौधे में जून से जुलाई तक फूल लगते हैं |

5.     रत्नजोत कि जड़ से लाल रंग का पदार्थ निकलता है जो दवाईयों से लेकर ,अन्य कई कामों में लिया जाता है |


प्रयोग


1.     रत्नजोत को खाने व पीने कि चीजों को रंग देने के काम लिया जाता है |

2.     दवाईयों ,तेलों और शराब में रत्नजोत को काम में लिया जाता है |

3.     कपड़े रंगने में भी रत्नजोत काम आती है |

4.     सफेद बाल,चमड़ी ,हृदय तथा पत्थरी रोग में भी रत्नजोत को काम में लिया जाता है |

5.     रत्नजोत हड्डियों और मासपेशियों को मजबूती देती है |


This plant can cure 10 types of diseases | Ratnjot 


Local names 

Ratnjot, Baimvalambapatai (Tamil), Alkanet (English) 



Botanical Name 


Alcanna Tinkoria


 Identification of Ratnajot 


1. Ratanjot containd trumpet-shaped blue or purple flowers.

2. This plant can grow from 0.3 to 0.6 meters long. 

3. The leaves of the plant have sporadic white hairs. 

4. This plant flowers from June to July.

5. The red colored substance comes out from the root of Ratnajot  is used in many other things, from medicines. 


Uses


1. Ratnajot is used to give color to food and drink. 

2. Ratanjot is used in medicines, oils and alcohol.

3. Ratnjot is also useful in dyeing clothes. 

4. Ratnjot is also used in white hair, skin, heart and stone diseases. 

5. Ratnajot strengthens bones and muscles.


अन्य पढ़ें 

No comments:

Post a Comment